इस बीमारी के मरीज बिलकुल न करे अख़रोट का सेवन 

स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं, लेकिन कुछ लोगों को इन्हें न खाने की सलाह दी जा सकती है,

डायबिटीज रोगियों को अकरोट का सेवन कम मात्रा में करना चाहिए, क्योंकि इनमें कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं जो ब्लड शुगर को बढ़ा सकते हैं.

 वे लोग जिन्हें पहले से ही किडनी स्टोन्स होते हैं या किडनी स्टोन्स के खतरे से जुझ रहे हैं, उन्हें अधिक अकरोट नहीं खाना चाहिए, क्योंकि ये ऑक्सलेट्स का स्रोत हो सकते हैं जो किडनी स्टोन्स के बढ़ने का कारण बन सकते हैं.

 वे लोग जिन्हें अखड़ामिया या अन्य सूखे फलों के प्रति एलर्जी होती है, उन्हें अकरोट से दूर रहना चाहिए, क्योंकि वे इसके सेवन से एलर्जिक प्रतिक्रिया का शिकार हो सकते हैं.

 यदि आपके शरीर में यूरिक एसिड की स्तर अधिक है तो अखरोट का सेवन सीमित करना चाहिए, क्योंकि यह यूरिक एसिड के स्तर को और बढ़ा सकता है, जिससे गठिया और अन्य संबंधित स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। 

गैल ब्लैडर स्टोन्स (पथरी) के मरीजों को भी अधिक अखरोट नहीं खाना चाहिए, क्योंकि यह स्टोन्स के बढ़ने का कारण बन सकता है।

अखरोट को सेहती मात्रा में खाने के फायदे भी हो सकते हैं, लेकिन इसके सेवन को स्वास्थ्य और चिकित्सकीय सलाह के साथ करें।